fbpx

‘मिस्टर तेंदुलकर मेरी मदद कीजिए’, वेस्टइंडीज के पूर्व क्रिकेटर की भावुक अपील

admin
admin
3 Min Read

एंटीगा: वेस्टइंडीज ने दुनिया को एक से बढ़कर एक क्रिकेटर दिए हैं। 70 और 80 के दशक में कैरेबियाई द्वीपों की टीम ने क्रिकेट की दुनिया पर राज किए। उसके तेज गेंदबाजों से विपक्षी टीमों के बल्लेबाज खौफ खाते थे और उसके बल्लेबाजों के सामने कई गेंदबाज कमजोर नजर आते थे। हालांकि आज वेस्टइंडीज क्रिकेट अपने अतीत की परछाई मात्र रह गया है। पहले जैसे खिलाड़ी भी नहीं और न ही दर्शकों में पहले जैसा जुनून है। लेकिन इस बीच, पुराने वक्त के कुछ खिलाड़ी और लोग हैं जो एक बार फिर कैरेबियन क्रिकेट संगीत की धाक दुनियाभर में जमाना चाहते हैं। इसमें से एक हैं पूर्व तेज गेंदबाज विंस्टन बेंजामिन।

बेंजामिन वेस्टइंडीज में क्रिकेट को दोबारा उसके चरम पर पहुंचाना चाहते हैं। वह खिलाड़ियों को ट्रेनिंग देना चाहते हैं और उसके लिए उन्हें भारत से मदद की दरकार है। खास तौर पर सचिन तेंदुलकर से।

वरिष्ठ खेल पत्रकार विमल कुमार भारत का वेस्टइंडीज दौरा कवर करने के लिए कैरेबियाई द्वीपों पर हैं। यहीं वह एंटीगा जाते हैं। यहां के सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम के बाहर उनकी मुलाकात बैंजामिन से होती है।

वेस्टइंडीज के लिए 1987 से 1995 के बीच 21 टेस्ट और 85 वनडे खेलने वाले इस गेंदबाज के नाम 161 अंतरराष्ट्रीय विकेट हैं। उन्होंने टेस्ट मैचों 61 विकेट लिए। भारत के खिलाफ 1987 में दिल्ली में अपना टेस्ट डेब्यू करने वाले इस पेसर को भारतीय क्रिकेटरों से बहुत आस है।

बैंजामिन ने विमल कुमार से कहा कि वह सचिन और मोहम्मद अजहरुद्दीन के बहुत अच्छे दोस्त हैं। विमल कुमार ने इस मुलाकात का वीडियो अपने यूट्यूब चैनल पर पोस्ट किया है। इसमें विमल बता रहे हैं कि सचिन, अजहरुद्दीन या कोई भी आईपीएल खेलने वाले क्रिकेटर तक उनकी बात पहुंचाई जाए।

बैंजामिन ने कहा कि उन्हें पैसे या कोई और चीज नहीं चाहिए बल्कि ऐसी चीज चाहिए जिससे कैरेबियन में क्रिकेट का भला हो।

बैंजामिन ने कहा, ‘पहले शारजाह या अन्य देशों में कई देशों के क्रिकेटर सहायता मैच खेला करते थे। मुझे कोई बेनेफिट नहीं चाहिए। मुझे ऐसे लोग चाहिए जो खेल का कुछ सामान भेज दें। 10-15 बल्ले भेज दें। मुझे 20 हजार अमेरिकी डॉलर नहीं चाहिए। मुझे सिर्फ सामान चाहिए ताकि मैं युवाओं को ट्रेनिंग देता रहूं।’

उन्होंने तेंदुलकर से खास तौर पर अपील की, ‘मिस्टर तेंदुलकर अगर आप इस पोजिशन में हैं तो मेरी मदद कीजिए।’ इसके साथ ही उन्होंने मोहम्मद अजहरुद्दीन का शुक्रिया अदा किया जिन्होंने उन्हें खेल का सामान भेजा था। बैंजमिन ने कहा कि कोई भी उनकी मदद करना चाहता है तो कर सकता है।

Share This Article