‘मैंने राखी को बुर्का या हिजाब पहनने को नहीं कहा, लेकिन मैं मुस्लिम हूं मुझे भी अपना धर्म देखना है’

‘मैंने राखी को बुर्का या हिजाब पहनने को नहीं कहा, लेकिन मैं मुस्लिम हूं मुझे भी अपना धर्म देखना है’

राखी शॉर्ट या बोल्ड ड्रेस में दिखे अब तक ये एक आम बात ही लगती थी लेकिन अब राखी पूरे ढके हुए शालीन कपड़ों में नजर आती तो सब चौंक जाते हैं। क्योंकि इंडस्ट्री में बोल्डनेस का दूसरा नाम ही राखी सावंत रहा है। आखिर ऐसा क्या हो गया कि अब राखी अपने ग्लैम लुक को छोड़ सिंपल कवर्ड ड्रेसिस में नजर आने लगी हैं। खबरों के मुताबिक उनके बिजनेसमैन बॉयफ्रेंड आदिल खान दुर्रानी नहीं चाहते कि राखी अब छोटी ड्रेसिस में घूमती नजर आएं।

‘आदिल और उनकी फैमिली को नहीं पसंद मैं ग्लैमरस कपड़े पहनूं’
इन दिनों राखी सावंत अपने काम से ज्यादा अपनी पर्सनल लाइफ को लेकर चर्चाओं में रहतीं हैं, खासकर तब से जबसे आदिल की एंट्री उनकी जिंदगी में हुई है। राखी आदिल का साथ पाकर बेहद खुश हैं इस बारे में वह कई दफा जिक्र कर चुकी हैं। राखी आदिल के प्यार में इस कदर डूब चुकी है कि वह शायद आदिल का साथ बने रहने के लिए कोई भी कीमत चुकाने के लिए तैयार हैं। यही वजह है कि वह आदिल के मुताबिक ही अपने लाइफस्टाइल में बदलाव ला रही हैं। यहां तक कि राखी अब कपड़े भी आदिल की पसंद के ही पहनती हैं। इन दिनों ग्लैम डोल से सिपंल गर्ल नजर आ रहीं ने खुद इस बात का खुलासा किया है कि आदिल और उनके परिवार बिलकुल पसंद नहीं है कि वह ग्लैमरस कपड़े पहनें। इसलिए उन्होंने ढके हुए कपड़े पहनने शुरू कर दिए हैं।

शॉपिंग के दौरान शॉर्ट ड्रेस को देखकर आता है रोना
अपने गाने ‘तू मेरे दिल में रहने के लायक नहीं’ के लॉन्च इवेंट में आदिल संग पहुंची राखी ने उनके रिलेशनशिप के बाद जिंदगी में आए बदलाव को लेकर चर्चा की। राखी ने बताया कि जब वह शॉपिंग के लिए जाती हैं और वह कोई शॉर्ट ड्रेस देखती हैं तो उन्हें रोना आ जाता है। राखी ने बताया यही नहीं जब वह किसी लड़की को भी शॉर्ट या रिवीलिंग ड्रेस में देखती हैं तब उनको उसे देखकर बहुत जलन होती है। आगे राखी ने कहा कि क्योंकि वह आदिल को किसी भी तरह से नहीं खोना चाहतीं और ना ही उनके परिवार को कोई दुख देना चाहती हैं। इसलिए वह उनकी बातों को मानकर खुश हैं।

राखी को मैंने बुर्का या हिजाब पहनने को नहीं कहा- आदिल
आदिल से जब ये पूछा गया कि राखी के ड्रेसिंस सेंस में बदलाव करना किस हद सही है? तो उन्होंने कहा कि मैंने राखी को कोई बुर्का या हिजाब में रहने के लिए नहीं कहा लेकिन कपड़ों को बदलने से राखी बदल नहीं जाएगी वह वही राखी रहेगी। आदिल ने आगे कहा कि मैंने राखी को कभी भी कपड़ों को लेकर फोर्स नहीं किया लेकिन मैंने उन्हें ढके हुए कपड़े पहनने के लिए जरूर समझाया क्योंकि वो पहले काफी अजीब खुले खुले छोटे कपड़े पहनती थीं। आदिल ने आगे यह भी कहा कि अगर में राखी के साथ जुड़ गया हूं तो इसका मतलब ये नहीं है कि मैं अपना धर्म भूल गया हूं या मैंने अपना धर्म छोड़ दिया है। मैं मुस्लिम बैकग्राउंड से आता हूं, मुझे अपने परिवार को देखकर भी चलना है।

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *