गोवा हुआ पुराना, अब आप वर्कला के साफ सुथरे और सूंदर समुद्रीय बीच की सैर का आनंद लीजिये

गोवा हुआ पुराना, अब आप वर्कला के साफ सुथरे और सूंदर समुद्रीय बीच की सैर का आनंद लीजिये

लोगों को अपनी दैनिक क्रिया से जब भी समय मिलता हैं। वह अपनी फ़ैमली के साथ या अपने फ़्रेन्ड्स के साथ थोडा वक्त बिताने के लिए कुछ ऐसी जगह पर घुमने का प्लान बनाते हैं। जिसमे वह खुबसुरत जगहो का मजा ले सके। ऐसे मे सबके मन मे एक ही नाम आता है वो है गोवा।

हमारे देश मे गोवा (Goa) के अलावा भी एसी बहुत सी जगह हैं, जहा जाकर आप प्रकृति के अदभुत नजारे के साथ-साथ धार्मिक स्थलो का भी आनंद उठा सकते है। आइए आज हम आपको कुछ ऐसे ही स्थानों के बारे मे जानकारी देते हैं।

आज हम जिस जगह की बात करेंगे वह है वर्कला (Verkala)। जहा आप अपनी छुट्टियो का आनंद ले सकते हैं। इस स्थान पर आकर आपको बिल्कुल गोवा जैसे ही महसूस होगा। हम आपको यह सलाह देगे कि आप अपनी अगली छुट्टियो मे वर्कला के बीच पर जरूर जाए।

वर्कला की है अनेक विशेषताए
बता दें कि वर्कला तिरुवनंतपुरम मे शहर कोल्लम से 30 कि. मी. दूर है। जो केरल (Kerala) का सबसे प्रसिद्ध खजाना है। यह पर्यटको के द्रष्टिकोण से अभी तक छिपा हुआ है। यहा तीर्थस्थानो और काफ़ी खुबसुरत मंदिर के अलावा लैटराई पहाड़ भी है। जो समुद्र तट को संजोए हुए है।

इस जगह का यह अहम आकर्षण करने वाला स्थान है। जिनको समद्री तटो से काफ़ी लगाव है, वह इस जगह पर आकर यहा की खुबसुरत्ती का आनंद ले सकते हैं। बता दे कि इस लैटराई पहाड़ के बीच निकली 600 मीटर लम्बी सड़क है, जिसके एक साइड आप गिफ़्ट दुकान, मसाज एवं रेस्टारेट्स का लाभ उठा सकते हैं। साथ ही सडक के दुसरी साइड समुद्री तट के खुबसुरत नजारे का आनंद ले सकते हैं।

आप अगर वर्कला के बीच (Verkala Beach) में जाना चाहेंगे, तो आपको वहा जाने के लिए थोड़ी ऊंची सीढियों से चढ़कर जाना होगा। क्लिप के लास्ट तक ट्रेक करके भी आप नीचे जा सकते हैं।

वर्कला के बीच पर नहाना, पानी की लहरों की आवाज सुनाई देना, दोपहर के टाइम में लंच करना और शाम में शापिंग के साथ-साथ डिनर करते हुए म्यूजिक सुनना मानो ऐसा लगता है कि बढ़िया तरीक़े से छुट्टियों को इनजाय कर रहें हैं। यहां बीच पर नहाने के बाद पहाड़ियों के किनारे में बहते पानी की धारा आपके लिए शावर से कम नहीं होगी।

वर्कला में इन स्थानों पर जरूर जाएं
अगर आप अपनी छुट्टियों बिताने के लिए वर्कला गए हैं। तो यहां की सभी खुबसूरत एवं धार्मिक स्थलों में जरुर जाइएगा। इन सभी स्थानों में जाने के लिए आपको एक बाइक किराए पर लेनी होगी। जिससे आप अपने हिसाब से सभी स्थानों का आनंद उठा सकें।

जनार्दन स्वामी मंदिर (Sri Janardanaswamy Temple)
यह मंदिर जनार्दन स्वामी जी को समर्पित है। जो कि भगवान विष्णु का ही एक नाम हैं। बता दे की यह मंदिर वर्कला में स्थित लगभग 200 वर्ष प्राचीन हैं। इस मंदिर में हिन्दू धर्म के अलावा अन्य किसी धर्म वालो को अंदर आने की अनुमति नहीं है। लेकिन दूसरे धर्म वाले बाहर घूम सकते हैं।

अगर आप हिन्दू है तो ढेर सारी सीढ़ियां चढ़ कर भगवान के दर्शन के लिए जा सकते हैं। बता दे कि इस में मंदिर में दर्शन करने के लिए आपको सादे कपड़े ही पहनना पड़ेगा। लेकिन जेंस (Male) को मंदिर में प्रवेश करने के लिए अपनी सर्ट या टी शर्ट (Shirtless) के बिना ही प्रवेश करना होता है।

सवागिरी मठ
बताया जाता हैं कि नारायण गुरु एक समाज सुधारक थे। जिससे उनकी एक समाधि का मठ बनाया गया हैं। जो कि वर्कला स्टेशन से 2 किमी की दूरी पर स्थित है। इस जगह में दर्शन का सबसे अच्छा समय 30 दिसंबर से लेकर 1 जनवरी का होता है।

इस समय मे यहा हजारों की संख्या में लोगो की तादात होती है। आपको बता दे कि इस मठ में दर्शन के लिए लोग दूर दूर से आते हैं। यहां ज्यतार लोग पीले कपड़े पहनकर दर्शन करते है। लेकिन आप चाहे तो सादे कपड़े भी पहन सकते हैं।

कापिल बीच
कापिल बीच वर्कला से पारावुर सड़क से थोड़ा अलग रास्ते पर हैं। जहा एक तरफ झील हैं, तो दूसरी तरफ बीच। जब यहां बारिश होती हैं तो बारिश के पानी से झील एवं बीच मिल जाते हैं। उस समय मानो ऐसा लगता है सबकुछ एक ही है। पर इस समय यह तैरने वालो के लिए खतरनाक साबित हो सकता हैं।

एलीफैंट शेड
एलीफैंट शेड पुठिकुलम में स्तिथ हैं। बता दे कि शिवन कुट्टी जो कि यहां के घरेलू हाथियों का एक बच्चा था। उन्होंने जब यहां जन्म लिया था, तब से यह सबकी चर्चा में आया था। अगर आप यहां जायेंगे, तो आप उनके साथ फोटो अवश्य ले सकते है। लेकिन उनके साथ फोटो लेने के लिए आपको पहले 100 रुपए देने होंगे। इन हाथियो को आप केले जरुर खिलाइएंगा, जोकि आपको पास की दुकान से आसानी से मिल सकते हैं।

पारावुर बीच
बता दे कि यह बीच वर्कला से काफी नजदीक स्थित है। जो कि बहुत ही शांत वातावरण एवं खूबसूरत नजारे वाला है। यहां की पानी कि लहरे जिस तरह चट्टानें से टकराती हैं, उसका नजारा देखने लायक ही रहता है।

पुरावुर बीच मे खरीद सकते हैं ताजा मछली
अगर आप पुरावुर बीच गए हो तो दिन की ताजा ताजा मछली पकडना, मछुआरो को पानी की लहरे के साथ खेलते देखना और केकड़े को रेंगते हुए देखने का कुछ अलग ही आनंद होता है।

अगर किसी को ज्यादा मछली भी मिली, तो बोली लगाकर खरीद सकते हैं। इस सब मस्ती भरे मोमेन्ट को अगर आपको देखना है, तो आपको 6 बजे पुरावुर बीच पर जाना होंगा।

वर्कला बीच
बता दे कि इस संसार के बहुत से लोग नए साल को सेलीब्रेट करने वर्कला मे ही आते हैं। आप भी अगर इस जगह पर नए साल का जश्न मनाना चाहते हैं, तो आपको 31 दिसम्बर की शाम के 7 बजे ही पहुँचना पड़ेगा।

तभी आप यहा आराम से पूरी रात का मजा ले सकते हैं। यहा पर लोगो की भीड़ इतनी अधिक होती हैं कि वहां के क्लिप गेट से निकलना काफ़ी कठिन होता है। इस समुद्र तट पर बीच हॉलिडे का मज़ा आपको जीवन भर याद रहने वाला

अगर आप उन लोगों में है वर्कला में घूमने जाने की बारे में सोच रहे हैं। तो आपके लिए अक्टुबर से मार्च तक का समय सबसे अच्छा रहेगा। जब भी इस ट्रिप के बारे में आप प्लान करेंगे तो 4-5 दिन का समय निकाल कर ही आपको जाना चाहिए। जिससे आप अच्छे से वर्कला ट्रीप का आनंद ले सकते हैं।

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *