fbpx

किस फूल को चढ़ाने से कौन सा फल मिलता है, क्लिक करके जाने

admin
admin
3 Min Read

लाइव हिंदी खबर :-फूल श्रद्धा और भावना का प्रतीक होता है। साथ ही ये हमारी मानसिक स्थितियों के बारे में भी बताता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, हर फूल के रंग और सुगंध का एक मतलब होता है। माना जाता है कि अलग-अलग प्रकार के फूल अलग तरह का प्रभाव पैदा करते हैं। आइये जानते हैं कि कौन से फूल से क्या लाभ मिलता है।

गेंदे के फूल का महत्व

वास्तव में गेंदा एक फूल नहीं, यह छोटे-छोटे फूलों का एक गुच्छा है।

गेंदा कई प्रकार का होता है, लेकिन सबसे ज्यादा उपयोगी और महत्वपूर्ण पीले गेंदे का फूल होता है।

गेंदे के फूल का संबंध बृहस्पति ग्रह से है।

इसका प्रयोग से ज्ञान, विद्या और आकर्षण की प्राप्ति होती है।

माना जाता है कि हर दिन भगवान विष्णु को पीले गेंदे के फूल की माला चढ़ाने से संतान संबंधी समस्याओं से मुक्ति मिल जाती है।

गुलाब के फूल का महत्व

गुलाब का फूल रिश्तों पर सीधा असर डालता है।

पूजा में लाल गुलाब का ही प्रयोग करना चाहिए।

लाल गुलाब मंगल से संबंध रखता है और इसकी खुशबू का संबंध शुक्र से होता है।

इस फूल के प्रयोग से प्रेम, आकर्षण, रिश्तों और आत्मविश्वास का वरदान मिलता है।

गुलाब देने से रिश्ते मजबूत होते हैं, प्रेम और वैवाहिक जीवन सुखद हो जाता है।

माना जाता है कि लक्ष्मी जी को हर दिन गुलाब अर्पित करने से आर्थिक स्थिति अच्छी हो जाती है।

कमल का फूल

कमल का फूल शुद्ध रूप से दैवीय और आध्यात्मिक फूल माना जाता है।

सफेद रंग का कमल अत्यंत पवित्र और ऊर्जा में सर्वश्रेष्ठ होता है।

इसका संबंध नौ ग्रहों से और दुनिया की समस्त ऊर्जा से है।

कमल का फूल अर्पित करने का अर्थ, ईश्वर के चरणों में स्वयं को अर्पित कर देने से है।

एकादशी को कृष्ण जी को दो कमल के फूल अर्पित करें, आपकी संतान प्राप्ति की अभिलाषा पूरी होगी।

27 दिन तक रोज एक कमल का फूल लक्ष्मी जी को अर्पित करने से अखंड राज्य सुख की प्राप्ति होती है।

गुड़हल का फूल

गुड़हल का फूल अत्यंत ऊर्जावान माना जाता है।

देवी और सूर्य देव की उपासना में इसका विशेष प्रयोग होता है।

हर दिन देवी को गुड़हल अर्पित करने से शत्रु और विरोधियों से राहत मिलती है।

गुड़हल का फूल डालकर सूर्य को जल अर्पित करने से सूर्य की कृपा मिलती है।

Share This Article