गांव की लड़की ने किया कारनामा अमेरिकन कंपनी में कर रही हैं जॉब, सालाना सैलरी 22 लाख

गांव की लड़की ने किया कारनामा अमेरिकन कंपनी में कर रही हैं जॉब, सालाना सैलरी 22 लाख

हमने अनेकों बार मेहनत के दम पर सफलता की इबादत लिखने वाले लोगों की कहानियां पढ़ी हैं. इन कहानियों में संघर्ष करने वाले लोगों की जिंदगी के बारे में बताया जाता है. आज की इस पोस्ट में भी हम आपको राजस्थान की एक बेटी के बारे में बताने वाले हैं. जिसने एक छोटे से गांव से निकलकर एक बड़ी कंपनी में जॉब पाने का सफर अपनी काबिलियत के दम पर तय किया है और वह वर्तमान समय में अच्छे खासे पैकेज पर नौकरी कर रही हैं, तो चलिए जान लेते हैं ऐसा कारनामा करने वाली ज्योति सिरसवा के बारे में जो महज 26 साल की है और इस उम्र में ही उन्होंने अपनी काबिलियत का लोहा मनवा दिया है.

जिस ज्योति सिरसवा के बारे में हम पसे बात कर रहे हैं. वह मुख्यता राजस्थान के झुंझुनू जिले के परसराम गांव से ताल्लुक रखती हैं. इनके पिता रियल एस्टेट का बिजनेस करते हैं तो इनकी मां घर का काम का संभालती हैं. उन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई गांव के ही एक विद्यालय से पूरी की थी. इसके बाद इन्होंने ट्वेल्थ की परीक्षा पास करके बीसीए करने का फैसला लिया और इन्होंने बीसीए कोर्स किया नवलगढ़ के पोद्दार कॉलेज से जब इनकी बीसीए फाइनल हुई. उस समय ज्योति सिरसवा छोटे-छोटे एप्स बनाने की जरिए अपनी नॉलेज में इंप्रूवमेंट कर रही थी और उस समय यह छोटे-छोटे एप्स बनाती थी. और इनकी इसी रूचि की वजह से इन्हें पढ़ाई के दौरान ही काम भी मिलने लगे थे लेकिन उस समय इन्होंने और बड़ा सपना देखा था.

बीसीए करने के बाद इनका सफर नहीं रुका और उनका काफिला जा पहुंचा आईआईएम अहमदाबाद. जहां से इन्होंने एमसीए की डिग्री हासिल की और उस दौरान इन्हें 8000 महीने की एक नौकरी भी मिल गई थी. 6 महीने इस जगह काम करने के बाद इनकी सैलरी में तगड़ा इजाफा हुआ जो 40,000 तक पहुंच गई. उन्होंने कुछ समय 40,000 महीने में नौकरी की. लेकिन इस नौकरी को छोड़कर ज्योति ने अमेरिकन कंपनी का हाथ थाम लिया और एप्स बनाने का काम करने लगी.
चिकित्सा से जुड़ी ऐप पर कर रही हैं काम

वर्तमान समय में ज्योति सिरसवा चिकित्सा से जुड़ी एक ऐप पर काम कर रही हैं. जिसकी मदद से मरीजों को काफी सहूलियत मिलेगी. बता दें, इन दिनों यह दुबई की एक के इंटरनेशनल को लीड कर रही हैं. वहीं इनकी सालाना सैलरी की बात करें तो इनको सालाना 22 लाख मिलते हैं. कहना गलत नहीं होगा राजस्थान की बेटी ने अपने संघर्ष के दम पर यह मुकाम हासिल किया है.

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *