बेंगलुरू से दरभंगा के लिए उड़ान भरी फ्लाइट बीच रास्ते से गायब।

बेंगलुरू से दरभंगा के लिए उड़ान भरी फ्लाइट बीच रास्ते से गायब।

दरभंगा एयरपोर्ट के लिए हवाई सफर करने वाले यात्रियों को जिस परेशानियों से दो-चार होना पड़ रहा हैं, उससे जनप्रतिनिधियों को कोई लेना-देना नहीं हैं। आए ना आए कोई दिन दरभंगा एयरपोर्ट को लेकर निराशाजनक खबरें सामने आती रहती हैं, जो कि चिंता का विषय हैं। अब कल यानि बुधवार की बात ही ले लें, बेंगलुरू से दरभंगा के लिए स्पाइसजेट की फ्लाइट एसजी-493 उड़ान भरने के बाद आधे रास्ते से डायवर्ट हो गई।

स्पाइसजेट की फ्लाइट में बैठे यात्री दरभंगा के बजाय हैदराबाद पहुंच गये। यात्रियों को जब माजरा समझ में आया, तो अफरातफरी मच गई। हैदराबाद में यात्रियों को फ्लाइट से उतार दिया गया, और कुछ देर बाद अनाउंस की गई कि उन्हें दो घंटे के बाद दूसरे फ्लाइट से वापस बेंगलुरू भेजा जाएगा। जिसे सुन यात्रियों के होश उड़ गए कि आखिर ये हो क्या रहा हैं। यात्री गुस्से से आगबबूला हो हंगामा करने लगे। इसे लेकर स्पाइसजेट के कर्मियों से यात्री की नोंकझोंक भी हुई।

दूसरे विमान से भेजने की व्यवस्था
विमानन कंपनी के कर्मी फ्लाइट डायवर्ट होने की वजह तकनीकी खराबी बता रहे थे। बता दें कि बुधवार की दोपहर 12.50 में बेंगलुरू से दरभंगा के लिए स्पाइसजेट की विमान ने उड़ान भरी थी, जिसे आधे रास्ते से हैदराबाद में ढ़ाई बजे लैंड कराया गया। इसके बाद करीब डेढ़ घंटे यात्रियों को फ्लाइट में ही बैठा कर रखा गया। मालूम हो कि बीपीएससी की परीक्षा 30 सितंबर को होने वाली हैं। इसको लेकर फ्लाइट में अधिकतर छात्र सवार थे। यात्रियों द्वारा शोरगुल और हो-हल्ला करने के बाद सभी को फ्लाइट से नीचे उतारा गया और दूसरे विमान से बेंगलुरु भेजने की घोषणा की गई।

आधी रात कुछ यात्री पहुंचे पटना
यात्रियों ने फ्लाइट से वापस बेंगलुरू भेजने की घोषणा सुनी तो फिर हंगामा खड़ा कर दिया। जिसके बाद यात्रियों को पटना भेजने का निर्णय लिया गया। हैदराबाद से पटना आने वाली फ्लाइट में कुछ यात्रियों को रात साढ़े 11 बजे के करीब लाया गया। हालांकि दरभंगा के यात्रियों को पटना लाने की कोशिश में यह फ्लाइट भी एक घंटे लेट हो गई। हैदराबाद से पटना आने वाली विमान ने करीब 09.15 में उड़ान भरी।

यात्रियों को होने वाली परेशानी पर दें ध्यान
दरभंगा एयरपोर्ट जहां एक तरफ अपनी कमियों को लेकर पहले ही ग़र्क में हैं, वहीं दूसरी ओर एयरलाइंस कंपनियों की वजह से और बेड़ा डूबो रहा हैं। दरभंगा एयरपोर्ट की सभी कमियों को नजरंदाज कर यात्री हवाई यात्रा करने पर मजबूर हैं, तो इसका यह मतलब नहीं कि एयरलाइंस उड़ान भरने के बाद कहीं भी कभी भी फ्लाइट लैंड कर दें। यात्रियों को इस दौरान होने वाली परेशानियों पर भी ध्यान दें।

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *