fbpx

माता की प्रतिमा से बहने लगा आँसू, लोगों ने बताया इसे चमत्कार, भक्तों की भीड़ से जगमग हुआ मंदिर

admin
admin
4 Min Read

हर साल नवरात्रि के शुभ अवसर पर पूरा देश जगमगा उठता है। मार्च महीने में आयी चैत्र नवरात्रि हाल ही में समाप्त हुई है और पूरे 9 दिन माता रानी की भक्ति में लीन भक्तों ने अपने घरों में और मंदिरों में पूजा-अर्चना की। इसी बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें बताया जा रहा है कि एक छोटे से मंदिर में माता की प्रतिमा से लगातार आँसू बह रहे है। ये बात आग की तरह चारों तरफ फ़ैल गयी। ये मामला मध्य प्रदेश के दमोह जिले का बताया जा रहा है जहाँ एक मंदिर में माता की प्रतिमा से लगातार आँसू बहते देखा गया।

मध्य प्रदेश के दमोह से करीब 35 किलोमीटर दूर हटा रोड पर एक छोटा सा लोहारी गांव है। वही से करीब 2 किलोमीटर और दूर जाकर खेतों में अंजनी माता का मंदिर बना हुआ है। यहां हर मंगलवार भक्तों की भीड़ उमड़ती है और यहां की मान्यता है कि जो भी एक बार जाता है उसकी मन्नत अवश्य पूरी होती है। बताया जाता है कि अंजनी मंदिर बेहद प्राचीन है। यही पर 21 मार्च, मंगलवार की सुबह लुहारी गांव निवासी हेमराज सिंह लोधी का दावा है कि जब वो सुबह माता के दर्शन करने गया तो उसने अद्भुत चमत्कार देखा। उसने देखा माता की प्रतिमा में एक आंख से आंसू गिर रहा है। पहले तो उसे लगा कि ये उसका भ्रम है, पर गौर से देखने के बाद उसको ये एहसास हुआ कि माता की प्रतिमा के आँख से लगातार आँसू गिर रहा है।

तुरन्त उस व्यक्ति ने अपनी आँखों देखि की बात पूरे गांव को बताई और फिर आसपास के लोग ये चमत्कार देखने पहुंचे। कई लोग तो नारियल, माता की चुनरी लेकर वहां मन्नत मांगने लगे। बताया जा रहा है कि एक महिला के तो माता आ गयी थी और उसने कहा कि मंदिर काफी छोटा है सरकार इस मंदिर को बड़ा बनाये ताकि आसपास के लोग भी यहां आ सके माता के दर्शन के लिए।

माता की प्रतिमा से आँसू निकलना चमत्कार या वैज्ञानिक कारण?

उस गांव के लोगो की आस्था है कि ये एक चमत्कार है जो माता के दरबार पर हुआ है। तो वही वैज्ञानिक इसे एक साइंटिफिक रूप देने की कोशिश कर रहे है। रानी दमयंती पुरातत्व संग्रहालय के सुरेंद्र चौरसिया ने घटना को वैज्ञानिक रूप देते हुए बताया कि, “वाष्पीकरण की वजह से बुंदे निकलना संभव है।” पर लोगों की आस्था का सम्मान भी होना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि नई मूर्तियों में वाष्पीकरण होता है जिसको वैज्ञानिक नज़रिये से देखा जाता है परंतु लोगों की आस्था भी मायने रखती है। उन्होंने ये भी बताया कि गांव वालो का कहना है मूर्ति प्राचीन पर हमारे रिकार्ड्स में अगर ऐसा होता तो हम उसे सुरक्षित रखते। फिलहाल ये घटना चर्चा का विषय बी गयी है और लोग इसे किसी चमत्कार से कम नही बता रहे है।

Share This Article