fbpx

‘Jaane Jaan’ रिव्यू : एक हत्या के गणित में उलझे किरदार हैं दमदार, इम्प्रेस करता है करीना और जयदीप का सॉलिड काम

admin
admin
6 Min Read

Jaane Jaan : सुजॉय घोष की फिल्म ‘Jaane Jaan’ नेटफ्लिक्स पर रिलीज हो चुकी है. करीना कपूर, जयदीप अहलावत और विजय वर्मा स्टारर इस फिल्म का ट्रेलर ही बता रहा था कि ये एक दिलचस्प murder mystery होने वाली है. फिल्म में कहानी का माहौल और फील थ्रिल पैदा करने के लिए परफेक्ट है. लेकिन क्या ये ‘Jaane Jaan’ दिल में उतर पाती है?

अगर आपको पहाड़ों पर घूमते हुए माहौल संदिग्ध लगता है और कुछ अनहोनी होने जैसी फीलिंग आती है, तो शायद आप बॉलीवुड murder mystery फिल्मों का डोज ज्यादा ले चुके हैं! सुजॉय घोष की ‘Jaane Jaan‘ फिल्मों-वेब सीरीज की उस लंबी लिस्ट में लेटेस्ट नाम है, जहां पहाड़, सर्दियां और कोहरा अपने साथ बोनस में एक मर्डर ले आते हैं. और ये फिल्म उन सस्पेंस थ्रिलर फिल्मों की लिस्ट में भी जुड़ती है, जिनके टाइटल पुराने फिल्मी गानों से बने हैं. जैसे- हसीन दिलरुबा, मोनिका! ओह माय डार्लिंग, रात अकेली है वगैरह.

नेटफ्लिक्स पर स्ट्रीम हो रही ‘जाने जां’ में करीना कपूर, जयदीप अहलावत और विजय वर्मा लीड एक्टर्स हैं. ‘कहानी’ और ‘बदला‘ जैसी थ्रिलर्स बना चुके सुजॉय इन तीनों को लेकर एक दिलचस्प कहानी बुनते हैं. पुरानी फिल्मों के बेहद पॉपुलर गानों से सजा बैकग्राउंड स्कोर, पहाड़ों की सेटिंग, लकड़ी के घर, कैफे और जूजूत्सु मिलकर एक मर्डर मिस्ट्री के लिए परफेक्ट सेटिंग बनाते हैं. इस माहौल से निकली ‘Jaane Jaan‘ एक दिलचस्प पहेली तोबुनती है, मगर जवाब मिलने तक जिन रास्तों से गुजरती है वहां काफी गड्ढे हैं.

न जाने कहां से आई है. न जाने कहां को जाएगी ये ‘जाने जां’! 

कालिम्पोंग, पश्चिम बंगाल में बेस्ड ये कहानी एक सिंगल मदर (करीना कपूर) की है. और इस महिला की कहानी में बहुत कुछ सस्पेंस भरा है ये बताने के लिए फिल्मी डिक्शनरी में ‘माया’ से बेहतर नाम शायद है ही नहीं. उसका पड़ोसी नरेन (जयदीप अहलावत) गणित का पक्का वाला कीड़ा है. उस पर नजर डालते ही आप जान सकते हैं कि ये भले चुपचाप अपने काम से काम रखने वाला टाइप लगता हो, लेकिन निजी जिंदगी में काफी भरा हुआ आदमी है, जो किसी पर भी फट सकता है.

नरेन एक मिथ की तरह है, जिसका अस्तित्व साबित करने के लिए ही जैसे लोग हर जगह उसे ‘टीचर’ बुलाते हैं. उसकी पर्सनालिटी में और क्या है, कोई नहीं जानता. और सस्पेंस के इस ट्रायंगल में तीसरा किरदार है करण (विजय वर्मा) जो मुंबई पुलिस में है. करण को एक पुलिसवाले की ही तलाश है, जिसपर काफी कुछ आरोप हैं और उसकी आखिरी लोकेशन कालिम्पोंग थी. इसलिए वो भी इस हिल स्टेशन पहुंच चुका है जहां माया शांति से अपनी टीनेजर बेटी के साथ रहकर कैफे चला रही है. और ‘टीचर’ अपने स्कूल में गणित पढ़ाकर खुश है.

शहर में एक लाश मिलती है, जो उसी व्यक्ति की है जिसे करण खोज रहा है. अब यहां छोटे से कस्बे में एक दूसरे को पहचानने वाले माहौल से खेल दिलचस्प होने लगता है. मुम्बई से एक व्यक्ति कालिम्पोंग क्यों आया और क्यों मारा गया? माया का इस व्यक्ति से क्या कनेक्शन है? माया का पड़ोसी नरेन इस बारे में क्या जानता है? और ये नरेन, जो करण का कॉलेज में दोस्त भी रहा है, क्या पुलिस की जांच में मदद करेगा? बिसात सेट है, खेल का माहौल बन गया है, अब यहां से कहानी को मजेदार बनाने का काम दो चीजों पर था- मर्डर मिस्ट्री को सुजॉय कैसे आगे बढ़ाते हैं और बिल्कुल अलग-अलग टाइप के एक्टिंग स्कूल से आने वाले उनके एक्टर्स क्या रंग जमाते हैं.

दमदार एक्टर्स का दमदार काम

‘Jaane Jaan’ में करीना कपूर को देखना ऐसा है जैसे आप उन्हें पहली बार इस तरह देख रहे हैं. बिना उनके ट्रेडमार्क ग्लैमरस अवतार के. जहां उनके चेहरे पर झुर्रियां भी दिखती हैं और उम्र भी. लेकिन फिर भी ‘मिसेज माया डी’सूजा’ की खूबसूरती में एक एक्स-फैक्टर तो है ही जो उनके इर्द-गिर्द दिखने वाले मेल किरदारों पर कुछ असर करता है. ऐसा लगता है जैसे उन्हें इस अवतार में दिखाने पर सुजॉय का खास फोकस भी है. फिल्म के एक सीक्वेंस में करीना जिस तरह का एग्रेशन लेकर आती हैं वो आपको हैरान कर देगा. इस सीक्वेंस में ऐसा लगता है जैसे उन्हें नए तरीके से डिस्कवर किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें :

 

श्रद्धा कपूर ऐसा क्या किया की उनको जेल जा रही हैं, देखिए पूरा वीडियो..

Dipika Kakar : Dipika Kakar को इस वजह से रातों रात अस्पताल में करवाना पड़ा भर्ती, शोएब इब्राहिम बोले- वो रात में उठकर रोती…

Share This Article