fbpx

भारतीय रेलवे ने अपनी ट्रेनों को अपग्रेड किया, इस ट्रैन में ऑटोमेटिक गेट के साथ यह सुविधा भी जोड़ दी गई

Editor Editor
Editor Editor
5 Min Read

भारतीय रेलवे (Indian Railwys) भारत का सबसे बड़ा यातायात परिवहन का मार्ग है। इस यातायात का उपयोग एक बार में लाखों लोग करते हैं यही कारण है कि भारत की अर्थव्यवस्था भी इसी एक यातायात के मार्ग पर कायम है, जैसे-जैसे समय बीतता जा रहा है, वैसे-वैसे रेलवे मंत्रालय के द्वारा भारतीय रेलवे में सुधार किया जा रहा है।

हम जानते हैं कि समय के साथ टेक्नोलॉजी में काफी ज्यादा परिवर्तन आया है। इसी परिवर्तन के चलते रेल मंत्रालय ने भी रेलों में नई-नई सुविधाएं दी हैं। आज के समय में यात्री एसी वाले कोच में सफर करता है। साथ ही सोने उठने बैठने खाने पीने सब कुछ की व्यवस्था ट्रेन के अंदर ही मिलती है, जो व्यक्ति लंबे सफर में जाता है। उसे पता है कि ट्रेन के अंदर क्या सुविधाएं हैं।

आपको बता दें लंबे से लंबा सफर आधे समय में हो जाता है। उसका कारण है हाई स्पीड ट्रेन लोगों ने हाई स्पीड ट्रेन को काफी ज्यादा बढ़ावा दिया है। साथ ही रेल मंत्रालय ने इन हाई स्पीड ट्रेनों में काफी ज्यादा अपग्रेड (Upgrade) किया है। आइए जाने रेलवे मंत्रालय के द्वारा रेलवे में सुधार हुआ है।

दिल्ली चंडीगढ़ शताब्दी में किया गया है यह काम
भारत में चलने वाली हाई स्पीड ट्रेनों में रेलवे मंत्रालय ने ऑटोमेटिक गेट और इंडिकेटर (Automatic Door Indicators) के साथ अलार्म (Alarm) की व्यवस्था भी की है। दिल्ली चंडीगढ़ शताब्दी भारत की लग्जरी और सुपर फास्ट ट्रेन बंदे भारत और तेजस की तरह ही अपग्रेड किया गया है।

रेलवे अपने पैसेंजर के लिए समय-समय पर कई सारी सुविधाएं देते रहता है। क्योंकि रेलवे परिवहन भारत का सबसे बड़ा और सुविधाजनक परिवहन है, इसीलिए रेल मंत्रालय भी अपने यात्रियों के लिए तरह-तरह की व्यवस्था करते रहता है।

दुर्घटनाओं से मिलेगी राहत
जैसा कि हम जानते हैं कि रेलवे जितना सुविधाजनक है, उतना ही घातक भी साबित होता है। पहले रेल में ऑटोमेटिक गेट नहीं हुआ करते थे, जिसकी वजह से लोग कई बार होशियारी में हादसे का शिकार हो जाते थे। इसीलिए रेलों में अब ऑटोमेटिक गेट की सुविधा दे दी गई है।

साथ ही अब इंडिकेटर के साथ-साथ अलार्म भी दिया गया है, जिससे घटना की स्थिति में इंडिकेटर और अलार्म दोनों ही मददगार साबित होंगे। व्यवस्था के साथ यात्री की सुरक्षा के लिए अन्य भी इंतमाजात किए हुए है। रेलवे मंत्रालय लग्जरी रेलों में वक्त वक्त पर कई सुविधाएं सुचारू करते हैं जिससे उनके पैसेंजर खुश रहे।

अब उधमी लोगों का नहीं रहेगा काम
नई दिल्ली से चंडीगढ़ जाने वाले शताब्दी अब हो गई है एकदम हाईटेक अब ट्रेन को भी सुपरफास्ट और ऑटोमेटिक गेट से सुसज्जित कर दिया गया है। दिल्ली से चंडीगढ़ जाने वाली ट्रेन में अब ऑटोमेटिक दरवाजे लग गए हैं जिसका ट्रायल भी सफल रहा।

इसके बाद अब कोई भी उधमी व्यक्ति इस रेलवे में ना तो गैरकानूनी तरीके ट्रेन में चढ़ सकेगा और ना ही उतर सकेगा। यह रेलवे अब केवल प्लेटफार्म पर इसका दरवाजा ओपन होगा और ट्रेन के चलते ही दरवाजा बंद हो जाएगा।

इस सुविधा से हादसों में काफी ज्यादा कमी हो जाएगी, अक्सर लोग चलती ट्रेन पर चढ़ जाते थे और चलती ट्रेन पर उतरने की कोशिश करते थे, जिसकी वजह से वह कई बार हादसे का शिकार भी हो जाते थे, परंतु अब ऐसा नहीं होगा।

ट्रेनों में लगाए गए सीसीटीवी कैमरा
आपको बता दें रेलवे के दरवाजों में इंडिकेटर और अलार्म की व्यवस्था भी की गई है। इस व्यवस्था से चोरी छीना झपटी जैसी घटनाओं को अंजाम देना चोरो के लिए नामुमकिन होगा। इसी के साथ रेलवे के अंदर सीसीटीवी कैमरा भी लगाए गए हैं। जिससे रेल के अंदर होने वाली वारदातों को सीसीटीवी कैमरे में कैद किया जा सके और उन अपराधियों को आसानी से पकड़ा जा सके।

ऑटोमेटिक गेट (Automatic Gate) की व्यवस्था सभी सुपरफास्ट ट्रेनों में की जा रही है, सितंबर के महीने में दिल्ली की कालका एक्सप्रेस में यह व्यवस्था की गई और अब नई दिल्ली से चंडीगढ़ जाने वाली ट्रेन (New Delhi Chandigarh Shatabdi) में इस व्यवस्था को सुचारू किया गया।

Share This Article