fbpx

‘मुझे ऑफर हुई थी अवतार, मैंने ही नाम दिया है’, जब गोविंदा के इस दावे ने कर दी थी उनकी फजीहत

Editor Editor
Editor Editor
4 Min Read

इन दिनों हॉलीवुड फिल्म अवतार द वे ऑफ वाटर (Avatar: The Way of Water) का बोलबाला पूरी दुनिया में देखने को मिल रहा है। फिल्म ने पहले वीकेंड पर ही वर्ल्डवाइड 3500 करोड़ का बिजनेस कर लिया है। अवतार का पहला पार्ट साल 2009 में आया था और आते ही सिनेमाघरों पर राज करने लगा था। इस फिल्म से बॉलीवुड के चीची यानी गोविंदा का एक खास नाता है। कुछ सालों पहले उन्होंने फिल्म को लेकर ऐसा दावा कर दिया था कि हर तरफ उनकी ही चर्चा होने लगी थी।

गोविंदा ने ठुकराया था अवतार का ऑफर
हिंदी फिल्म इंडस्ट्री पर 80 और 90 के दशक में राज करने वाले गोविंदा 21 दिसंबर को अपना 59वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे हैं। इस खास दिन पर आइए उनसे जुड़े इस किस्से के बारे में जानते हैं, जब उन्होंने अवतार को लेकर चौंकाने वाला दावा किया था। चीची ने जर्नलिस्ट रजत शर्मा के शो ‘आप की अदालत’ में कहा था कि अवतार के डायरेक्टर जेम्स कैमरून ने उन्हें अपनी मास्टरपीस फिल्म अवतार ऑफर की थी, लेकिन उन्होंने इस ऑफर को ठुकरा दिया था क्योंकि चार सालों तक वह अपने शरीर पर नीले रंग का पेंट लगाकर फिल्म की शूटिंग नहीं कर सकते थे।

2019 में दिए इस इंटरव्यू में एक्टर ने कहा था, “कैमरून (James Cameron) चाहते थे कि मैं फिल्म के लिए 410 दिनों तक शूट करूं। मेरे जैसे इंसान के लिए पूरे शरीर पर नीले रंग का पेंट लगाना मुमकिन नहीं था। मैंने उनसे माफी मांग ली, लेकिन उस वक्त ही मैंने उन्हें बता दिया था कि आपकी ये फिल्म हिट होगी।”

मैंने दिया था फिल्म का टाइटल
गोविंदा, अवतार को लेकर यहीं पर नहीं रुके, उन्होंने फिल्म के टाइटल को लेकर दावा किया कि उन्होंने ही फिल्म का नाम जेम्स कैमरून को दिया था। एक्टर ने कहा, “मैंने फिल्म का टाइटल दिया था। यह एक सुपरहिट फिल्म साबित होगी। मैंने उन्हें (जेम्स कैमरून) बताया कि फिल्म बहुत अच्छा बिजनेस करेगी। मैंने उनसे कहा कि मुझे लगता है कि आपकी फिल्म पूरे सात सालों में तैयार हो पाएगी। इस पर वह गुस्सा भी हो गए कि तुम इतने श्योर कैसे हो कि मैं सात सालों तक इस फिल्म को पूरा नहीं कर पाउंगा?”

बुरी तरह ट्रोल हुए थे गोविंदा
गोविंदा अपने इस दावे के बाद सोशल मीडिया पर बुरी तरह ट्रोल भी हुए थे। मीडिया में खुद को लेकर बन रहे मजाक पर एक्टर ने रिएक्ट भी किया था और ट्रोलर्स को जवाब देते हुए कहा था कि लोग भले ही उनकी बातों पर यकीन न करें, लेकिन यह कहना गलत होगा कि उनकी औकात नहीं है कि हॉलीवुड की फिल्म उन्हें ऑफर हो। बॉम्बे टाइम्स को दिए इंटरव्यू में गोविंदा ने कहा था, “लोगों के इस सोच से मुझे कोई परेशानी नहीं है कि गोविंदा जैसा शख्स जेम्स कैमरून की फिल्म को ठुकरा सकता है। मैं समझ सकता हूं कि वे कहां से आ रहे हैं। मैं उस सोच का सम्मान करता हूं। उन्हें अपनी राय रखने का अधिकार है, लेकिन यह कहना कि गोविंदा को यह ऑफर कैसे मिला, गलत है। ऐसा नहीं है कि मेरी औकात नहीं है। यह तो जजमेंटल सोच है कि चाय वाला आगे कैसे बढ़ सकता है?”

Share This Article