fbpx

15 साल की लड़की से प्यार कर बैठे थे गोविंदा, 19 में बनीं मां, अपने मामा की साली से ही कर ली शादी, ऐसी है लव स्टोरी

admin
admin
4 Min Read

बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री के कॉमेड़ी ऑफ किंग अभिनेता गोविंदा को आज के समय में कौन नही जानता हैं. पिछलें कुछ समय से अभिनेता गोविंदा भांजे कृष्णा अभिषेक संग कॉन्ट्रोवर्सी को लेकर सुर्खियों में आए हुए हैं. जितने गोविंदा चर्चा में उससे कही ज्यादा उनकी पत्नी भी सुर्खियों में रहती हैं.

gre

कहने के लिए सुनीता आहूजा फिल्मी जगत का हिस्सा नहीं हैं, लेकिन इनकी कश्मीरा शाह संग नोंकझोक के चर्चे दूर-दूर तक हैं. 15 जून को सुनीता अपना 51वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रही हैं. इस मौके पर हम आपको गोविंदा और सुनीता की लव स्टोरी के बारे में कुछ दिलचस्प किस्सा बताने जा रहे हैं. कम ही लोग इस बात को जानते हैं कि गोविंदा की पत्नी सुनीता आहूजा बॉलीवुड एक्टर के मामा की साली हैं.

juyt

जहां गोविंदा और सुनीता दोनों की मां शुरू से ही इस रिश्ते को लेकर राजी थे, वहीं शुरुआत में गोविंदा की सुनीता आहूजा से लड़ाई ही होती रहती थी. सुनीता की बड़ी बहन की शादी गोविंदा के मामा आनंद सिंह के साथ हुई थी.अपने संघर्ष के समय में गोविंदा 3 साल तक अपने मामा के पास रह रहे थे और यहीं वह सुनीता से मिले. शुरुआत में तो दोनों के बीच काफी बहस हुआ करती थी, लेकिन जो चीज इन दोनों को करीब लेकर आई, वह डांस था

mudra

गोविंदा के मामा अक्सर सुनीता और उन्हें डांस कॉम्पिटीशन करने के लिए कहा करते थे, लेकिन सुनीता थीं जो हमेशा इनकार कर दिया करती थीं. गोविंदा एक छोटे से गांव विरार से ताल्लुक रखते थे. वहीं, सुनीता हाई सोसायटी में रहने वाली थीं. धीरे-धीरे दोनों के बीच प्यार परवान चढ़ना शुरू हुआ और बात शादी तक आ पहुंची.

love

ई-टाइम्स को दिए इंटरव्यू में सुनीता ने बताया था कि 15 साल की उम्र में वह गोविंदा को पसंद करने लगी थीं. तीन साल तक दोनों के बीच रिलेशनशिप रहा. 18 साल की उम्र में सुनीता की शादी गोविंदा से हो गई थी. 19 साल की उम्र में वह मां बन गई थीं. सुनीता आहूजा और गोविंदा साल 1987 में शादी के बंधन में बंधे.

raj

आज गोविंदा और सुनीता के दो बच्चे हैं. बेटी नर्मदा (टीना) बड़ी हैं और बेटा यशवर्धन जो इस समय बॉलीवुड इंडस्ट्री में कदम रखने की तैयारियों में जुटे हुए हैं. बहुत कम लोग यह बात जानते हैं कि गोविंदा और सुनीता के एक बेटी और हुई थी, जिसने चार महीने बाद ही दम तोड़ दिया था, क्योंकि वह प्रिमैच्योर बेबी थी.

fuk 1

टाइम्स ऑफ इंडिया संग बातचीत में गोविंदा ने प्रिमैच्योर बेबी के बारे में बात करते हुए कहा था कि मैंने अपने परिवार में 11 मौतें देखी हैं. इसमें मेरी चार महीने की बेटी की मौत भी शामिल है जो प्रिमैच्योर हुई थी.
“मेरी मां, मेरे पिता, मेरे दो कजिन्स, मेरे जीजा जी और मेरी बहन. सभी बच्चों को मैंने ही पाल-पोसकर बड़ा किया है. मेरे ऊपर उस समय काफी इमोशनल और फाइनेंशियल प्रेशर था.”

Share This Article