fbpx

बचपन में पकड़ा था बल्ला, पिता की मौत के समय भी नहीं रुका जस्वा!! जाने कैसे चीकू बना ‘किंग कोहली’..?

admin
admin
8 Min Read

विराट कोहली का जन्म एक मध्यमवर्गीय परिवार में 5 नवबंर 1988 को हुआ. विराट मूलरूप से मध्य प्रदेश (MP) के कटनी के रहने वाले हैं. मध्य प्रदेश से कोहली का गहरा नाता था. विराट के दादा विभाजन के वक्त कटनी आ गए थे. लेकिन विराट के पिता प्रेम कोहली परिवार को लेकर दिल्ली चले आए थे.

बचपन की इस तस्वीर में कप्तान विराट कोहली को उनकी मां सरोज प्यार से पकड़ी हुई हैं, साथ ही उनके भाई विकास कोहली भी मौजूद हैं.

इस तस्वीर में विराट कोहली के साथ उनकी मां सरोज और बड़ी बहन भावना हैं. विराट कोहली अपनी बड़ी बहन के साथ केक काटते हुए नजर आ रहे हैं.

इस तस्वीर में विराट कोहली अपने पिता प्रेम कोहली और दोस्तों के साथ केक शेयर करते हुए नजर आ रहे हैं.

इस तस्वीर को देखकर शायद ही कोई कल्पना करे कि जिन्होंने यह खिलौना पकड़ रखा है, आज उन्हीं के हाथों में भारतीय क्रिकेट टीम की कमान है.

विराट की क्रिकेट के प्रति दीवानगी देखने लायक थी. कोहली बचपन से ही सचिन तेंदुलकर की ही तरह एक बेहतरीन क्रिकेटर बनना चाहते थे.

विराट के क्रिकेट के प्रति इसी जुनून के चलते उनके पिता प्रेम कोहली ने 9 साल की उम्र में ही उन्हें क्रिकेट की ट्रेनिंग दिलवानी शुरू कर दी थी. विराट के पिता उन्हें स्कूटर पर बैठाकर पहली बार वेस्ट दिल्ली क्रिकेट अकादमी लेकर गए थे.

कोहली ने अपनी क्रिकेट की ट्रेनिंग दिल्ली क्रिकेट अकादमी में पूरी की थी. कोहली ने राजकुमार शर्मा की कोचिंग में क्रिकेट की बारीकियां सीखीं.

विराट कोहली साल 2006 में जब राहुल द्रविड़ से मिले थे तो अपने रोल मॉडल को अपने सामने देख वह उनसे आंखें भी नहीं मिला पा रहे थे.

19 ‍दिसंबर 2006 को विराट के पिता प्रेम कोहली का 54 साल की उम्र में ब्रेन स्ट्रोक की वजह से निधन हो गया था. उस वक्त विराट महज 18 साल के थे और वह दिल्ली में रणजी ट्रॉफी में खेल रहे थे. दिल्ली का वह मैच कर्नाटक के खिलाफ था. कोहली ने दिल्ली को फॉलोऑन से बचाने के लिए 90 रनों की शानदार पारी खेली. उसके बाद ही वह अपने पिता के अंतिम संस्कार में शामिल हुए.

विराट कोहली की ही कप्तानी में भारतीय टीम ने 2008 का अंडर-19 वर्ल्ड कप जीती थी. यह टूर्नामेंट मलेशिया में खेला गया था.

इस शानदार प्रदर्शन के दम पर कोहली ने टीम इंडिया के लिए अपना पहला इंटरनेशनल मैच 18 अगस्त 2008 को श्रीलंका के खिलाफ खेला था.

विराट को 2011 वर्ल्ड कप टीम में चुना गया और उन्होंने अपने पहले ही वर्ल्ड कप मैच में बांग्लादेश के खिलाफ शतक जड़ दिया. इसके बाद कोहली ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा.

साल 2012 में हुए ऑस्ट्रेलियाई दौर पर जब टॉप भारतीय बल्लेबाज रन बनाने से जूझ रहे थे तब कोहली ने एडिलेड टेस्ट में शतक जड़कर कंगारुओं को अपना दम दिखाया.

साल 2012 में ही खेली गई सीबी सीरीज में कोहली ने श्रीलंका के दिए 321 रनों के लक्ष्य को बौना साबित करते हुए 36.4 ओवर में ही लक्ष्य हासिल कर लिया. कोहली ने शानदार 133 रनों की नाबाद पारी खेली थी. उनकी इस पारी ने उन्हें बेस्ट रन चेजर के रूप में पहचान दिलाई.

18 मार्च 2012 को पाकिस्तान के खिलाफ एशिया कप के एक मैच में कोहली ने अपने वनडे करियर की बेस्ट पारी खेली. उन्होंने पाकिस्तान के दिए 330 रनों के लक्ष्य को बहुत आसान से चेज कर लिया. कोहली ने 183 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली थी.

30 सितंबर 2012 को कोहली ने वर्ल्ड टी-20 के मुकाबले में पकिस्तान के खिलाफ 78 रनों की शानदार पारी खेलते हुए टीम इंडिया को जीत दिलाई.

पहली बार ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर टेस्ट कप्तान बनाए गए विराट कोहली ने अपनी कप्तानी के डेब्यू टेस्ट मैच में ही कंगारुओं की हालत खराब कर दी. उन्होंने एडिलेड टेस्ट की दोनों पारियों में शतक जड़े थे. इस दौरा पर कोहली ने 692 रन बनाए थे.

पाकिस्तान के खिलाफ कोहली का बल्ला जम कर बोलता है और यह उन्होंने 2015 वर्ल्ड कप में भी दिखाया. विराट ने पाकिस्तान के खिलाफ शानदार 107 रनों की यादगार पारी खेली थी.

अपनी मेजबानी में खेले गए 2016 वर्ल्ड टी-20 में एक बार फिर कोहली ने पाकिस्तान की नींद उड़ा दी. भारत के 23 रन पर 3 विकेट गिर गए थे, तब कोहली ने एक छोर संभालते हुए 55 रनों की मैच विनिंग पारी खेली और सेमीफाइनल के लिए टीम की उम्मीदें कायम रखी.

2016 वर्ल्ड टी-20 में ही ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ‘करो या मरो’ के मुकाबले में कोहली ने टीम इंडिया को जीत दिलाई और सेमीफाइनल में पहुंचाया. कोहली ने 82 रनों की मैच विनिंग पारी खेली.

कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया ने 22 साल बाद श्रीलंका में टेस्ट सीरीज जीतकर इतिहास रचा था. 2015 में विराट ब्रिगेड ने 2-1 से टेस्ट सीरीज अपने नाम की थी.

विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया टेस्ट क्रिकेट में नंबर 1 टीम है. 2015 से लेकर अब तक टेस्ट मैचों में टीम इंडिया ने अच्छा प्रदर्शन किया है.

विराट कोहली को स्वादिष्ट खाना पसंद है. घर होने पर उन्हें अपनी मम्मी के हाथों की बनी मटन बिरयानी और खीर पसंद है. हालांकि अब कोहली ने नॉनवेज खाने से दूरी बना ली है.

विराट के परिवार में उनकी मां सरोज, बड़ी बहन भावना, बड़ा भाई विकास, भाभी चेतना और भतीजा आर्य कोहली हैं. बता दें कि विराट कोहली कि बहन भावना की शादी साल 2002 में संजय ढींगरा के साथ हो चुकी है. संजय एक बिजनेसमैन हैं.

दिसंबर 2017 में कोहली ने बॉलीवुड एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा के साथ शादी की थी. अनुष्का और विराट की दोस्ती बचपन से है. यही नहीं, अनुष्का कोहली के साथ बचपन में खूब क्रिकेट खेला करती थीं. अनुष्का शर्मा के पिता आर्मी ऑफिसर रहे हैं और उस दौरान अनुष्का का भाई कर्णेश क्रिकेट खेलता था. विराट भी उसके साथ खेलते थे.

विराट अपने ड्रेसिंग स्टाइल और लुक के कारण भी आज के यूथ आइकॉन बन चुके हैं. क्रिकेट फील्ड के अंदर और बाहर दोनों में ही विराट अपने लुक पर खासा ध्यान देते हैं.

पिछले साल की शुरुआत में विराट कोहली ने अपनी कप्तानी में भारत को ऑस्ट्रेलिया की धरती पर टेस्ट सीरीज में ऐतिहासिक जीत दिलाई थी. 71 साल में पहली बार ऑस्ट्रेलिया की धरती पर भारत को टेस्ट सीरीज में जीत मिली थी.

विराट कोहली भारत के सफल टेस्ट कप्तान हैं. उनकी कप्तानी में भारत को 33 टेस्ट मैचों में जीत मिली है. कोहली से पीछे पूर्व कप्तान एमएस धोनी (27 टेस्ट जीत) और सौरव गांगुली (21 टेस्ट जीत) हैं.

Share This Article