‘सेना ने एलियंस के यान पर दागी थी मिसाइल, जेलीफिश की तरह था आकार’, फिल्म मेकर ने जारी किया वीडियो

‘सेना ने एलियंस के यान पर दागी थी मिसाइल, जेलीफिश की तरह था आकार’, फिल्म मेकर ने जारी किया वीडियो

वैसे तो वैज्ञानिक कई दशकों से एलियंस की खोज करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन उनसे जुड़ा कोई सुराग अभी तक हाथ नहीं लगा। हालांकि पिछले कुछ सालों से अमेरिका, ब्रिटेन जैसे देशों में इनके देखे जाने की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं, लेकिन कभी इसकी पुष्टि नहीं हुई। अब एक अमेरिकी फिल्म मेकर ने एलियंस के यान यानी यूएफओ को लेकर अजीब सा दावा किया है। साथ ही उन्होंने सबूत के तौर पर एक वीडियो भी जारी किया।

जेलीफिश जैसी थी चीज फिल्म मेकर जेरेमी कॉर्बेल ने दावा किया है कि अमेरिकी सेना ने हाल ही में एक रहस्यमयी जेलीफिश जैसी चीज पर मिसाइड दागी थी, जो एलियंस का यान था। जेरेमी पिछले साल भी सुर्खियों में आए थे, जब उन्होंने अज्ञात हवाई घटना (यूएपी) दिखाने वाले वीडियो के एक कलेक्शन को पोस्ट किया था, जिसे अमेरिकी नौसेना के जहाजों ने समुद्र में देखा था। उसमें पिरामिड जैसी चीज और पानी में डूबी वस्तुएं आदि शामिल थीं। बाद में पेंटागन ने उसके कई दृश्यों को प्रामाणिक किया।

कॉफी टेबल जितना था आकार जेरेमी ने कहा कि दुनिया में बहुत सारी यूएफओ देखे जाने की घटनाएं सामने आई हैं, लेकिन मेरे पास कुछ फुटेज और फोटोज हैं। एक वीडियो में एक अज्ञात चीज जेलीफिश की तरह दिखती है। वो एक बड़ी कॉफी टेबल के आकार की थी, जो लगभग 10-12 फीट की रही होगी। उसकी बनावट गुंबद जैसी थी, जिस पर सैनिकों ने फायरिंग की। जेरेमी ने कहा कि उसे हासिल करने का हमने कोई ‘खोज प्रोग्राम’ तैयार नहीं किया है।

2021 से हो रही वृद्धि जेरेमी ने इससे पहले न्यूज पोर्टल डेली स्टार से बात करते हुए कहा था कि उन क्षेत्रों में 2021 के बाद से यूएफओ देखे जाने की घटनाओं में नाटकीय रूप से वृद्धि हुई है। वो ये नहीं जानते कि ये सब क्यों हो रहा है, लेकिन इन घटनाओं का आपस में कुछ तो ताल्लुक जरूर है। उन्होंने जो एक मिनट का वीडियो जारी किया है, उसमें एक संदिग्ध चीज स्क्रीन पर दिखाई देती है। उसमें कुछ जवान बात करते रहते हैं, लेकिन कुछ वक्त बाद वो गायब हो जाती है।

जब कांग्रेस में हुई सुनवाई मई 2022 में इस मुद्दे पर अमेरिकी कांग्रेस में सुनवाई हुई थी। जिसमें पाया गया कि सैन्य कर्मियों ने 400 से ज्यादा बार रहस्यमयी चीजें देखीं, जो यूएफओ हो सकते हैं। इसके अलावा फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन (एफएए) ने भी खुलासा किया थाकि पायलटों द्वारा दर्जनों यूएफओ देखे गए थे। जिसमें से कुछ की वीडियो भी बना ली गई।

जब हेलीकॉप्टर के सामने आया यूएफओ अभी हाल ही में एलियंस से जुड़ी एक और रिपोर्ट सामने आई थी, जिसमें बताया गया कि 6 नवंबर, 2018 को टक्सन, एरिजोना से लगभग 40 मील उत्तर-पश्चिम में कुछ यूएफओ देखे गए। उस वक्त अपाचे अटैक हेलीकॉप्टर उड़ान भर रहे थे, तभी उनके सामने तीन यूएफओ का काफिला आया। जिसकी रफ्तार बिजली से भी तेज थी। हालांकि वो पलभर में ही गायब हो गए।

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *