fbpx

‘कांतारा’ की भारी सफलता के बाद ऋषभ शेट्टी को अनुराग कश्यप की दो टूक सलाह

Editor Editor
Editor Editor
5 Min Read

Anurag Kashyap ने Kantara की भयंकर सफलता के बाद Rishab Shetty को सलाहनुमा चेतावनी दी है. अनुराग ने हालिया इंटरैक्शन में बताया कि फिल्मों की सफलता मेकर्स को सशक्त करती है. वो आपको दो तरीके से प्रभावित कर सकती है. या तो आप अपनी कहानी सुनाएं. या फिर उस फिल्म की सफलता को दोहराने की कोशिश करें. अनुराग का सुझाव है कि फिल्ममेकर्स को अपनी कहानियां सुनाने पर जोर देना चाहिए. अनुराग ने बताया कि उन्होंने ‘सैराट’ के ब्लॉकबस्टर होने के बाद नागराज मंजुले से एक बात कही थी. उन्होंने कहा था कि ये सफलता मराठी इंडस्ट्री को बर्बाद कर सकती है. कमोबेश यही नसीहत उन्होंने ऋषभ शेट्टी को भी दी है.

अनुराग कश्यप गलाटा प्लस के राउंड टेबल इंटरव्यू में पहुंचे थे. राउंड टेबल इंटरव्यू वो होता है, जिसमें एक से ज़्यादा इंडस्ट्री के लोग साथ आते हैं और अपनी-अपनी फिल्मों पर बात करते हैं. गलाटा प्लस राउंड टेबल इंटरव्यू में अनुराग कश्यप, निपुण धर्माधिकारी, श्रीनिधी शेट्टी, पूजा हेगड़े, करण जौहर, कार्ती, दुलकर सलमान और वरुण धवन जैसे लोग पहुंचे थे. बारद्वाज रंगन के साथ हुए इंटरव्यू में बात करते हुए अनुराग कश्यप ने पैन-इंडिया लेवल पर सफल हो रही फिल्में और उसके दुष्परिणामों पर बात की. अनुराग कहते हैं-

‘मैंने नागराज से बात की थी. मैंने उनसे कहा- ‘आपको पता है सैराट ने मराठी सिनेमा को बर्बाद कर दिया?’ मेरा मतलब है सैराट की सफलता ने. उससे लोगों को ये पता चला गया कि बहुत सारा पैसा कमाया जा सकता है. अचानक से उमेश कुलकर्णी और अन्य लोगों ने अपनी तरह की फिल्में बनानी बंद कर दीं. क्योंकि वो सब लोग ‘सैराट’ की नकल करना चाहते थे.”

अनुराग अपनी इस बातचीत में जोड़ते हैं-

”पैन-इंडिया की वजह से आज कल ये हो रहा है कि सब लोग पैन-इंडिया फिल्म बना रहे हैं. मगर इनमें से 5 या 10 परसेंट फिल्में सफल हो रही है. ‘कांतारा’ या ‘पुष्पा’ जैसी फिल्में आपको ये हिम्मत देती हैं कि आप अपनी कहानी कह सकें. मगर KGF 2 जैसी बड़ी सक्सेस की देखा-देखी, आप उस लेवल का प्रोजेक्ट सेट-अप करने की कोशिश करते हैं, तो वो डिज़ास्टर की ओर पहला कदम होता है. बॉलीवुड ने यही करने के फेर में खुद को बर्बाद कर लिया.”

अनुराग कश्यप ने हॉलीवुड प्रोड्यूसर जेसन ब्लम का उदाहरण दिया. उन्होंने कहा कि जेसन ब्लम छोटे बजट की फिल्मों से सफल हुए. मगर सफलता के बाद उन्होंने अपना काम करने का तरीका चेंज नहीं किया. वो छोटे बजट की फिल्में ही बनाते रहे. और सफल होते रहे. जेसन ब्लम ने अपने करियर में ‘पैरानॉर्मल एक्टिविटी’, ‘द पर्ज’ जैसी हॉरर फिल्म फ्रैंचाइज़ शुरू की. इसके अलावा उन्होंने ऑस्कर में तहलका मचाने वाली ‘व्हिप्लैश’, ‘गेट आउट’ और ‘ब्लैक्लांसमन’ जैसी फिल्में भी प्रोड्यूस कीं. अनुराग कहते हैं-

”वो अब भी बेहद कंट्रोल्ड बजट में फिल्में बनाते हैं. उससे ये होता है कि जब फिल्म सफल होती है, तो सबको पैसे मिलते हैं. और उन्हें ऐसा करते हुए सफल फिल्में दी हैं.”

‘कांतारा’ के बाद ऋषभ शेट्टी को क्या करने से बचना चाहिए, इस पर अनुराग कहते हैं-

”अगर ऋषभ शेट्टी इस सफलता के बाद बुनियादी तौर पर अपनी फिल्ममेकिंग बदल देते हैं. और बॉक्स ऑफिस को नज़र में रखकर बड़े बजट की फिल्में बनाने लगते हैं, तो वो सही नहीं रहेगा. क्योंकि फिल्म बनाने के प्रति आपका अप्रोच वही होना चाहिए, जैसा पहले था.”

ऋषभ शेट्टी की कन्नड़ा फिल्म ‘कांतारा’ ने दुनियाभर से 400 करोड़ रुपए से ज़्यादा की कमाई की. इसके अलावा फिल्म को ओटीटी प्लैटफॉर्म्स पर रिलीज़ के बाद भी भारी संख्या में देखा जा रहा है. वहीं दूसरी तरफ अनुराग कश्यप की पिछली फिल्म थी ‘दोबारा’. आने वाले दिनों में उनकी Almost Love with DJ Mohabbat नाम की फिल्म रिलीज़ होने वाली है.

Share This Article