जिओ, एयरटेल और वीआई को टक्कर देने आ रहा अडानी ग्रुप का टेलीकॉम नेटवर्क! 5जी नीलामी के बाद ऐलान होने की उम्मीद

जिओ, एयरटेल और वीआई को टक्कर देने आ रहा अडानी ग्रुप का टेलीकॉम नेटवर्क! 5जी नीलामी के बाद ऐलान होने की उम्मीद

भारतीय मोबाइल यूजर्स के लिए जल्द ही एक नई खुशखबरी सामने आने वाली है। अब मोबाइल यूजर्स को एक नए सिम का ऑप्शन मिलने वाला है। अंबानी ग्रुप ने कुछ साल पहले जियो नेटवर्क की शुरुआत की थी और भारत में इंटरनेट का एक नया दौर शुरू हो गया था। अब अडाणी ग्रुप भी अपना एक नया टेलीकॉम नेटवर्क शुरू करने जा रहा है।

इस वक्त भारत और एशिया के सबसे अमीर इंसान और दिग्गज कारोबारी गौतम अडाणी (Gautam Adani) टेलीकॉम सेक्टर में एंट्री करने जा रहे हैं। अगर ऐसा हुआ तो टेलीकॉम इंडस्ट्री में Adani Group की सीधी टक्कर रिलायंस जियो (Reliance Jio), एयरटेल (Airtel) और Vodafone Idea जैसी कंपनियों से होगी।

टेलीकॉम सेक्टर में होगी अडाणी की एंट्री
इस खबर की जानकारी न्यूज एजेंसी पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से दी है। आपको बता दें कि 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी में भाग लेने के लिए आवदेन देने की अंतिम तारीख पार हो चुकी है। 8 जुलाई, 2022 यानी शुक्रवार के दिन 4 कंपनियों ने 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी में आवेदन किए हैं। इन 4 कंपनियों में रिलायंस जियो, एयरटेल, वोडाफोन आइडिया और आडानी ग्रुप है। 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी 26 जुलाई को होगी और इसके आवेदकों की डिटेल्स 12 जुलाई को सार्वजनिक की जाएगी।

रिपोर्ट्स के मुताबिक 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी में 72,097.85 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम को पेश किया जाएगा, जिसकी वैल्यू कम से कम 4.3 लाख करोड़ रुपये होगी। इस नीलामी के लिए तीन आवेदक तो जियो, एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया है, लेकिन चौथे आवेदक के बारे में सूत्रों से खबर आई है कि नीलामी में आडानी ग्रुप भी हिस्सा लेने जा रहा है।

अब होगा अंबानी-अडाणी का सीधा मुकाबला
अब अगर ऐसा होता है तो पहली बार किसी सेक्टर में अडाणी और अंबानी का सीधा मुकाबला होगा। आपको बता दें कि ये दोनों भारत के दो सबसे अमीर इंसान और सबसे बड़े कारोबारी है। पिछले कुछ सालों में इनका बोलबाला रहा है, लेकिन दोनों कभी आमने-सामने नहीं आएं हैं। ये दोनों गुजरात के हैं, लेकिन दोनों का कारोबार अलग-अलग है। अंबानी का कारोबार तेल, पेट्रोकेमिकल, टेलीकॉम सेक्टर और कई खुदरा क्षेत्रों तक फैला हुआ है।

वहीं, अडाणी का कारोबार कोयला, एनर्जी डिस्ट्रीब्यूशन, बंदरगाह और एविएशन सेक्टर तक फैला हुआ है। ऐसे में इन दोनों कारोबारियों का व्यापार अलग-अलग क्षेत्रों में फैला हुआ है लेकिन अब अगर अडाणी ग्रुप टेलीकॉम सेक्टर में आते हैं तो पहली बार अंबानी और अडाणी के व्यापार की सीधी टक्कर होगी।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें।

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *